भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
(पर्यावरण, वन मंत्रालय एवं जलवायु परिवर्तन ,भारत सरकार)
 

पुस्तकालय


शुष्क वन अनुसंधान संस्थान में वानिकी अनुसंधान और विस्तार को प्रोत्साहन देने के लिए पुस्तकालय सह सूचना केन्द्र की स्थापना हुई। पुस्तकालय भवन में 11 कमरे/ हॉल हैं एवं 40 पाठकों के बैठने की व्यवस्था है। वर्तमान में पुस्तकालय में विभिन्न शोध विषयों से संबंधित लगभग 11 हजार पुस्तकें उपलब्ध है साथ ही लगभग 15 हजार देशी/विदेशी पत्रिकाऐं व बैक वॉल्यूमस् एवं बाउण्ड जर्नल एवं विभिन्न संगठनों एवं संस्थानों से प्राप्त न्यूज लेटर्स/ रिपोर्टस् उपलब्ध है। पुस्तकालय में भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद् एवं संस्थान के प्रकाशनों के विक्रय की सुविधा भी उपलब्ध है।

पुस्तकें :पुस्तकालय में लगभग 11000 पुस्तकें सार्वभौमिक दशमलव वर्गीकरण पध्दति के अनुसार व्यवस्थित हैं। प्रमुख विषय जिनमें इन पुस्तकों को वर्गीकृत किया गया है, इस प्रकार हैं- वानिकी, वनवर्ध्दन, कृषिवानिकी, वनस्पति विज्ञान,रसायन विज्ञान, पादप कार्यिकी, आकारिकी रोग विज्ञान तथा पारिस्थितिकी। संदर्भ पुस्तकें यथा विश्वकोष, शब्द कोष, भारत की सम्पदा, एटलस, मानचित्र आदि अलग से व्यवस्थित हैं। शैल्फ में से सुगमतापूर्वक पुस्तक प्राप्त करने के लिए सभी पुस्तकों का वर्गीकरण करके उनकी कम्प्यूटर में प्रविष्टि की गई है।

जर्नल्स :पुस्तकालय में 34 देशी व 03 विदेशी जर्नल आते हैं।

समाचार पत्र / अन्य प्रकाशन : पुस्तकालय में विभिन्न संस्थानों से वार्षिक रिपोर्ट तथा इसके अलावा अनेक मोनोग्राफ, अनुसंधान लेखों के रिप्रिंट एवं न्यूज़लैटर्स की नि:शुल्क प्रतियाँ भी प्राप्त होती हैं।

नवीन जानकारी


रोजगार एवं निविदाएं


निदेशक का संदेश



एन के वासु , आई एफ एस

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर (राजस्थान) की वेबसाइट पर आपका स्वागत करते हुए मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है। शुष्क वन अनुसंधान संस्थान की स्थापना.... आगे देखे»

फोटो गैलरी


आगे देखे»

भा.वा.अ.शि.प संस्थान


कॉपीराइट © 2014 - शुष्क वन अनुसंधान संस्थान (शु.व.अ.सं.) रूपांकित, विकसित और मेजबानी द्वारा सूचना प्रौधोगिकी प्रभाग,भा.वा.अ.शि.प.