भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
(पर्यावरण, वन मंत्रालय एवं जलवायु परिवर्तन ,भारत सरकार)
 

संरचना


शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर (राजस्थान) भारत सरकार के पर्यावरण एवं वन मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्तशासी निकाय, भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद, देहरादून (ICFRE) ,के आठ संस्थानों में से एक है। वानिकी अनुसंधान से सम्बध्द इस संस्थान का उद्देष्य वानिकी और संबंधित क्षेत्रों में वैज्ञानिक अनुसंधान कर उत्पादकता और वानस्पतिक क्षेत्र में वृध्दि करना, जैव विविधता का संरक्षण् करना तथा संस्थान के निर्धारित कार्य क्षेत्रों राजस्थान, गुजरात, दादरा और नागर हवेली के गर्म शुष्क और अर्ध्द शुष्क क्षेत्रों में स्थानीय आवश्यकताओं हेतु प्रौद्योगिकी का विकास करना है। संस्थान परिसर न्यू पाली रोड, जोधपुर पर 66 हैक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है।


संस्थान के प्रमुख अनुसंधान कार्यक्षेत्र हैं- (Thurst areas)

  • शुष्क क्षेत्रों हेतु कृषि शस्य चरागाह मॉडल विकसित करना
  • शुष्क क्षेत्रों में वर्षा जल संग्रहण तकनीक विकसित करना
  • दाब क्षेत्रों के वनीकरण हेतु तकनीक का विकास
  • रेतीले टिब्बों का स्थिरीकरण कर मरुरूथल का पारिस्थितिकी-स्थिरीकरण
  • उच्च गुणवत्ता की रोपण सामग्री तैयार करने की तकनीकें विकसित करना
  • महत्वपूर्ण शुष्क क्षेत्रीय प्रजातियों का उद्गगम स्रोत परीक्षण
  • जैव कीटनाशी एवं जैव उर्वरकों पर अध्ययन
  • शुष्क क्षेत्र के अकाष्ठ वनोपज पर अनुसंधान
  • जैनेटिक इंजीनियरिंग एवं उत्तक संवर्ध्दन द्वारा वृक्ष सुधार

 

नवीन जानकारी


रोजगार एवं निविदाएं


निदेशक का संदेश



एन के वासु , आई एफ एस

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर (राजस्थान) की वेबसाइट पर आपका स्वागत करते हुए मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है। शुष्क वन अनुसंधान संस्थान की स्थापना.... आगे देखे»

फोटो गैलरी


आगे देखे»

भा.वा.अ.शि.प संस्थान


कॉपीराइट © 2014 - शुष्क वन अनुसंधान संस्थान (शु.व.अ.सं.) रूपांकित, विकसित और मेजबानी द्वारा सूचना प्रौधोगिकी प्रभाग,भा.वा.अ.शि.प.